Neavy के लिए अब JEE जरूरी

Neavy के लिए अब JEE जरूरी

Neavy के लिए अब JEE जरूरी

जयपुर : भारतीय नेवी (Neavy) में जॉब का कई यूथ्स सपना देखते हैं। कोई पढ़ाई के आधार पर कोई फिजिकली फिट होते हुए एकैडमी में दाखिला लेता है। यदि आप भी भारतीय नौसेना एकैडमी (आईएनए) में जनवरी 2018 कोर्स में दाखिला लेने को उत्सुक हैं तो इसके लिए JEE क्‍लीयर होना जरूरी है।

दरअसल, अब आईएनए में जनवरी 2018 कोर्स में दाखिला उन छात्रों को ही मिल सकेगा, जिन्होंने 2017 में जेईई (मेन) क्लियर किया हो। नौसेना में अब 10+2 बी.टेक कैडेट एंट्री स्कीम जॉइन करने वाले कैंडिडेट की शॉर्टलिस्टिंग जेईई (मेन) में प्राप्त रैंक्स के आधार पर ही होगी।

एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि राजस्थान समेत कई राज्यों के परीक्षा बोर्ड बारहवीं क्लास में दिल खोलकर माक्र्स दे रहे हैं। हम देख रहे हैं कि एसएसबी (सर्विसेज सिलेक्शन बोर्ड के इंटरव्यू या प्रशिक्षण के लिए जो कैंडिडेट आ रही हैं, उनकी क्वॉलिटी बहुत विषम है। उन्होंने बताया कि जेईई (मेन) रैंक्स इसके लिए बेहतर बेंचमार्क रहेगा।

सीबीएसई हमसे इस रैंक को साझा करने के लिए सहमत है। सरकार द्वारा इस कदम को मंजूरी देने के बाद भारतीय नौसेना एकैडमी (आईएनए) में जनवरी 2018 कोर्स में दाखिला उन छात्रों को ही मिल सकेगा, जिन्होंने 2017 में जेईई (मेन) क्लियर किया हो। गौरतलब है कि जेईई मेंस का आयोजन इंजिनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए किया जाता है।

नौसेना के इस फैसले के बाद अब इस स्कीम में दाखिले के लिए बारहवीं क्लास में पीसीएम (फीजिक्स, कैमिस्ट्री, मैथ्स) में प्राप्त अंक मान्य नहीं रहेंगे।

SHARE