10 हजार रूपये छात्रवृत्ति

Eduction Scholarship student scholarship

प्रति वर्ष प्रति छात्र 10 हजार रूपये छात्रवृत्ति

बीपीएल परिवार के मेधावी विद्यार्थियों को मिलेगी विशेष छात्रवृत्ति

प्रदेश के राजकीय विद्यालयों में कक्षा 10 एवं 12 में अपने जिले में सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने वाले बीपीएल परिवार के मेधावी विद्यार्थियों के लिए प्रति वर्ष प्रति छात्र 10 हजार रूपये की विशेष छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

‘लर्निंग सोसायटी’ के माघ्यम से विद्यार्थियों को उनके उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम के आधार पर यह छात्रवृत्ति स्नातक स्तर तक शिक्षा प्राप्त करने तक जारी रहेगी। शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी ने बताया कि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे की मंशा के अनुरूप राज्य के गरीब एवं आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के बच्चों की शैक्षिक प्रतिभा प्रोत्साहन के तहत निदेशक, माध्यमिक शिक्षा द्वारा पात्र बीपीएल बच्चों की तैयार सूची के आधार पर यह छात्रवृति प्रदान की जाएगी।

जिले में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले उन विद्यार्थियों को प्रदान की जाएगी जो न्युनतम 70 प्रतिशत अंक लाते हैं तथा कक्षा 10 एवं 12 के बाद भी अपनी पढ़ाई जारी रखते हैं। प्रो. देवनानी ने बताया कि छात्रवृत्ति के लिए राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थी ही पात्र होंगे। उन्होंने बताया कि जिन बच्चों को किसी और स्तर पर स्कॉलरशिप प्रदान की जा रही है, वे इसके लिए पात्र नहीं होंगे।

उन्होंने बताया कि विशेष छात्रवृति के अंतर्गत जिलेवार कक्षा 10 में सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने वाले एक-एक विद्यार्थी को प्रतिवर्ष 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसी प्रकार जिलेवार कक्षा 12 में हिन्दी, विज्ञान और वाणिज्य संकाय के तहत सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले एक-एक विद्यार्थी को भी यह छात्रवृत्ति उनकी अंक पात्रता के आधार पर प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा संस्कृत शिक्षा में वरिष्ठ उपाध्याय परीक्षा में जिले में सर्वाेच्च रहने वाले विद्यार्थी भी इस छात्रवृति के लिए पात्र होंगे। शिक्षा राज्य मंत्री ने शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे यह सुनिश्चित करें कि इस विशेष छात्रवृत्ति योजना की अधिकाधिक जानकारी विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों तक पहुंचे।

उन्होंने कहा कि हमारा यह लक्ष्य होना चाहिए कि बड़े स्तर पर पात्र अभ्यर्थियों को इसका लाभ मिले और एक बार जो इस स्कॉलरशिप के लिए पात्र के रूप में चुना जाए वह बाद में भी अपने शैक्षिक स्तर को निरंतर कायम रखे। उन्होंने बताया कि ‘लर्निंग सोसायटी’ द्वारा मुख्यमंत्री सलाहकार परिषद्, उपाध्यक्ष कार्यालय में इस संबंध में प्रस्ताव प्राप्त हुआ था।

प्रस्ताव के अंतर्गत प्रतिवर्ष प्रति बीपीएल परिवार के मेधावी बच्चों को 10 हजार रूपये की छात्रवृति प्रदान करने का निर्णय लिया गया है।

SHARE