हिन्दी दिवस पर शुभकामनाएं

shivira shiksha vibhag rajasthan shiksha.rajasthan.gov.in
shivira shiksha vibhag rajasthan shiksha.rajasthan.gov.in

हिन्दी दिवस पर शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने प्रदेशवासियों को हिन्दी दिवस (14 सितम्बर) पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। श्रीमती राजे ने कहा है कि जीवन में भाषा का बड़ा महत्व है। भाषा से ही हम संस्कारित होते हैं।

उन्होंने कहा कि मातृ भाषा के प्रति प्रेम रखकर ही हम वास्तविक रूप में देश के विकास में भागीदार बन सकते हैं। विश्व में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषाओं में हिन्दी एक है। हमें हमारी मातृ एवं राजभाषा हिन्दी पर गर्व करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने युवाओं से आह्वान किया है कि वे दुनिया की विभिन्न भाषाओं को सीखें लेकिन हिन्दी के प्रति अपने लगाव को कभी कम नहीं होने दें, क्योंकि मातृ भाषा ही हमें हमारी माटी से जोड़े रखती है।

शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी ने हिंदी दिवस पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि हिंदी भारतीय संस्कृति और गौरव की अनूठी भाषा है। आज यहां जारी अपने संदेश में प्रो. देवनानी ने कहा कि हिंदी हमें जड़ों से जोड़ने वाली भाषा है। दुनियाभर के लोगों को पास लाने वाली कोई एक मीठी भाषा है तो वह हिंदी है।

उन्होंने कहा कि यह एक ऎसी भाषा है जो दुनियाभर की संस्कृतियों के बीच एक सेतु का कार्य करती है। उन्होंने हिन्दी भाषा को भारतीय संस्कृति और गौरव की भाषा के रूप में जन-जन में स्थापित किए जाने के प्रयास किए जाने का आह्वान किया है। शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि हिंदी के महत्व और इसकी समृद्धता को इसी से जाना जा सकता है कि संसार में इस समय लगभग 170 विश्वविद्यालयों में हिंदी का शिक्षण चल रहा है। हिंदी तेजी से विश्वभर में बढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि हिंदी के संरक्षण के लिए नहीं हमें इसे भारतीय संस्कृति और गौरव की भाषा के रूप में हमें जन-जन तक जोड़े जाने के लिए कार्य करने की जरूरत है। राज्य स्तरीय हिन्दी दिवस समारोह बुधवार को जवाहर कला केन्द्र में भाषा एवं पुस्तकालय विभाग द्वारा हिन्दी दिवस पर बुधवार को राज्य स्तरीय समारोह जवाहर कला केन्द्र के ‘रंगायन’ सभागार में आयोजित किया जाएगा।

प्रातः 11.30 बजे आयोजित होने वाले इस समारोह के मुख्य अतिथि शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी होंगे जबकि अध्यक्षता शासन सचिव, स्कूल शिक्षा श्री नरेश पाल गंगवार होंगे। समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में जगद्गुरू रामानन्दाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विनोद शास्त्री भाग लेंगे। इस अवसर पर डॉ. श्रीमती अजित गुप्ता मुख्य वक्ता होंगी।

SHARE