जैसलमेर : पंचायत सहायकों के चयन को लेकर ग्रामसेवकों में असमंजस

shivira shiksha vibhag rajasthan shiksha.rajasthan.gov.in district news DPC, RajRMSA, RajShiksha Order, rajshiksha.gov.in, shiksha.rajasthan.gov.in, Shivira Panchang February 2017, अजमेर, अभिनव शिक्षा, अलवर, उदयपुर, करौली, कोटा, गंगानगर, चित्तौड़गढ़, चुरू, जयपुर, जालोर, जैसलमेर, जोधपुर, झालावाड़, झुंझुनू, टोंक, डीपीसी, डूंगरपुर, दौसा, धौलपुर, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, प्राइमरी एज्‍युकेशन, प्राथमिक शिक्षा, बाड़मेर, बारां, बांसवाड़ा, बीकानेर, बीकानेर Karyalaye Nirdeshak Madhyamik Shiksha Rajisthan Bikaner, बूंदी, भरतपुर, भीलवाड़ा, माध्‍यमिक शिक्षा, मिडल एज्‍युकेशन, राजसमन्द, शिक्षकों की भूमिका, शिक्षा निदेशालय, शिक्षा में बदलाव, शिक्षा में सुधार, शिक्षा विभाग राजस्‍थान, सरकार की भूमिका, सवाई माधोपुर, सिरोही, सीकर, हनुमानगढ़

जैसलमेर : पंचायत सहायकों के चयन को लेकर ग्रामसेवकों में असमंजस

जैसलमेर : राज्य सरकार की ओर से ग्राम पंचायतों पर काम के बोझ को कम करने की गरज से पंचायत सहायकों की नियुक्ति किए जाने को लेकर जिले के ग्रामसेवकों में ऊहापोह की स्थितियां बन गई है। इस संबंध में सरकार और पंचायतीराज विभाग की तरफसे कई बिंदुओं का खुलासा नहीं होने से वे हिचक रहे हैं।

उन्हें आशंका है कि पंचायत सहायकों की ग्रामसभाओं के मौके पर चयन प्रक्रिया कहीं विवाद का कारण नहीं बन जाए और आगे चलकर वे कानूनी पचड़ों में नहीं फंस जाएं।

नहीं है साफ दिशा निर्देश

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत कार्यालय में कार्यरत कार्मिकों के सहयोग के लिए पंचायत सहायकों की नियुक्ति का सरकार ने निर्णय तो ले लिया लेकिन विभाग ने इस संबंध में स्पष्ट दिशा निर्देश जारी नहीं किए। मसलन इस पद के लिए शैक्षणिक योग्यता माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से 12वीं अथवा समकक्ष, आयु 18 से 40 वर्ष और संबंधित पंचायत समिति का मूल निवासी होना अनिवार्य होने की तीन मुख्य अर्हताएं रखी गई हैं। इन शर्तों के चलते प्रत्येक ग्राम पंचायत की ग्रामसभा में पंचायत सहायक के पद के लिए बीसियों आवेदन पत्र प्राप्त होने की संभावना है, जबकि उनके चयन के लिए मापदंड निर्धारित ही नहीं किए गए हैं। ऐसे ही निर्धारित पदों पर चयन के लिए ग्रामसभा में सहमति नहीं बनने और उपस्थित ग्रामीणों के बीच गुटबाजी बन जाने पर ग्रामसभा से अनुमोदन करवाने की प्रक्रिया का भी खुलासा नहीं किया गया है।

कैसे होगी छंटनी व मिलान

जारी निर्देशों के अनुसार ग्राम पंचायत सहायक के पदों के लिए प्राप्त आवेदन पत्र ग्राम पंचायतवार ग्रामसभा के दिन सुबह 10.30 बजे तक लिए जा सकेंगे। ऐसे में इन आवेदनों की छंटनी तथा दस्तावेजों का मिलान किया जाना संभव नहीं दिखता। ऐसे ही ग्राम पंचायतों की जनसंख्या के अनुपात में पदों का सृजन नहीं किया गया है। पंचायत सहायकों के चयन संबंधी ग्रामसभा में अत्यधिक भीड़ होने से कानून व्यवस्था का संकट भी खड़ा हो सकता है।

शांति व्यवस्था के लिए संवेदनशील ग्राम पंचायतों को चिन्हित कर वहां पुलिस जाप्ता तैनात करने के संबंध में कोई निर्णय नहीं किया गया है।


पंचायत कार्यालयों में कामकाज बढ़ जाने के लिहाज से पंचायत सहायकों की नियुक्ति किए जाने के संबंध में स्पष्ट दिशा निर्देश अभी तक नहीं मिले हैं, जिसे लेकर जिला ग्रामसेवक संघ चिंतित है। सरकार से आवश्यक निर्देश प्रदान करने और कमियों को दुरुस्त करने का अनुरोध किया गया है।

-भंवरलाल गर्ग, जिलामंत्री, राजस्थान ग्रामसेवक संघ, जैसलमेर

SHARE