जयपुर महारैली में पहुंचेंगे जिले से 1100 प्राध्यापक प्रधानाचार्य

शिक्षक संघ Shikshak sangh mang pradarshan dharna

जयपुर महारैली में पहुंचेंगे जिले से 1100 प्राध्यापक प्रधानाचार्य

जयपुर : राजस्थान शिक्षा सेवा प्राध्यापक संघ (रेसला) और रेसा (पी) का सात सूत्रीय मांगों को लेकर जयपुर में डॉ. एस. राधाकृष्णन शिक्षा संकुल पर 12 दिवसीय धरना चल रहा है।

रेसला के प्रदेश कोषाध्यक्ष दिलीप कुमार पारीक ने बताया कि 5 अक्टूबर को जयपुर में महारैली होगी। रेसला के प्रदेश प्रवक्ता शकील अहमद उस्मानी ने बताया कि नागौर जिले के 14 ब्लॉक से लगभग 1100 प्राध्यापक,प्रधानाचार्य और अधिकारी महारैली में भाग लेंगे। 5 अक्टूबर की महारैली की सफल बनाने के लिए जिलेभर की सभी ब्लॉक की कार्यकारिणी और जिला पदाधिकारी संपर्क अभियान कर रहे हैं और रणनीति को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

इसी क्रम में रेसला डीडवाना ब्लॉक की एक बैठक प्रदेश प्रवक्ता शकील अहमद उस्मानी के सानिध्य में संपन्न हुई जिसमें ब्लॉक के अध्यक्ष शिवशंकर खारडिय़ा, मंत्री अशोक सेवदा, पूर्व अध्यक्ष हरजीराम, सभाध्यक्ष रामदेव, प्रचार मंत्री लिछमण राम, मोहम्मद फारूक गौरी, दिनेश माली, गंगाराम, रामरतन गोदारा, रामावतार सोनी ने सहित कई सक्रिय कार्यकर्ताओं ने योजना को अंतिम रूप दिया।

रेसला और रेसा (पी) की मांगों के बारे में दिलीप पारीक ने बताया कि प्रधानाचार्य पदोन्नति में संख्यात्मक अनुपात लागू करने, प्रधानाचार्य का ग्रेड पे 7600 करने, नवपदोन्नत व्याख्याताओं को न्यूनतम वेतन 18750 देने, प्रधानाचार्य पद पर स्थायीकरण 25200 पर करने, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू करने की मांग को लेकर फैसला राज्य व्यापी आंदोलन की शुरुआत हो चुकी है।

5 अक्टूबर को निर्णायक महारैली जयपुर में होगी जिसमें 25000 से अधिक व्याख्याता शिक्षा अधिकारी और प्रधानाचार्य की भाग लेने की संभावना है।

SHARE