सीबीएसई स्कूलों के स्टूडेंट्स को 8 किलोमीटर के दायरे में ही मिलेगा परीक्षा केंद्र

CBSE : Central Board of Secondary Education

सीबीएसई स्कूलों के स्टूडेंट्स को 8 किलोमीटर के दायरे में ही मिलेगा परीक्षा केंद्र

अजमेर। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई)की अगली परीक्षा में संभवतया विद्यार्थियों को परीक्षा देने के लिए अधिकतम 8 किलोमीटर दूर ही जाना होगा। सीबीएसई आगामी परीक्षा को देखते हुए परीक्षा केंद्रों की दूरी को लेकर एक्सरसाइज कर रही है।  सीबीएसई सुनिश्चित कर रही है कि छात्रों को अपने स्कूलों से आठ किलोमीटर की दूरी के भीतर परीक्षा केन्द्रों का आवंटन किया जाए।
सूत्रों के मुताबिक बोर्ड की मुख्य परीक्षाओं के साथ ही राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा(नेट),एनईईटी,जेईई मुख्य परीक्षा के लिए भी सीबीएसई यही प्रक्रिया अपनाने पर गंभीरता से विचार कर रही है।
बोर्ड सूत्रों के अनुसार सीबीएसई यह भी प्रयास करने जा रहा है कि सभी परीक्षा केंद्रों ऑन लाइन रूप से मानचित्र पर भी दृष्टिगत हाें। वर्तमान में मानचित्र की कोई व्यवस्था नहीं है।
अब सीबीएसई के अजमेर रीजन समेत देश के सभी रीजनल ऑफिसों से भी इस संबंध में संपर्क किया जा रहा है। परीक्षा केंद्र 8 किलोमीटर के दायरे में ही रहेंगे,इससे छात्रों को लंबी दूरी की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी।
आॅन लाइन देखा जा सकेगा केंद्र
सीबीएसई यह भी प्रयास कर रहा है कि निकट भविष्य में मुख्य परीक्षा के साथ ही अन्य प्रतियोगी परीक्षा के छात्र-छात्राओं को स्वयं का परीक्षा केंद्र ऑन लाइन रूप में दिख सके,इसके लिए भी व्यवस्था की जा रही है। परीक्षा केंद्रों का मानचित्र बोर्ड तैयार करा रहा है।
बोर्ड सूत्रों का कहना है कि इस व्यवस्था से बोर्ड को भी स्वचालित रूप से केंद्रों के आवंटन में मदद मिलेगी। सीबीएसई को पूर्व में कुछ विद्यार्थियों व स्कूलों की दूर दराज के क्षेत्रों में केंद्र आवंटन के संबंध में शिकायत मिली थी। देश भर में सीबीएसई के करीब 14,000 स्कूल संबद्ध हैं। इन सभी से सीबीएसई ने जानकारी मांगी है।
इसके लिए इस महीने के अंत तक का समय दिया गया है। गौरतलब है कि सीबीएसई की मुख्य परीक्षाएं अगले वर्ष मार्च में शुरू होंगी।
SHARE