राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिभाओं का सम्‍मान

The Union Minister for Human Resource Development, Shri Prakash Javadekar felicitated the award winners of National Science Talents-2017, at a function, in New Delhi on June 14, 2017.

राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिभाओं का सम्‍मान

नई दिल्‍ली। केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज नई दिल्ली में राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिभाओं (2016-17) को सम्मानित किया। मंत्री महोदय ने विजेताओं को स्मृति चिन्ह और प्रमाण पत्र प्रदान किये।

विजनन भारती (विभा) तथा  विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के अधीन एक स्वायत्त संस्था विज्ञान प्रसार व मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन राष्ट्रीय शिक्षा एवं अनुसंधान परिषद (एनसीईआरटी) के संयुक्त तत्वावधान में विद्यार्थी विज्ञान मंथन (वीवीएम) के लिए पूरे देश में राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिभा खोज का आयोजन किया गया था।

परीक्षा में कक्षा 6 – 10 के 1.4 लाख छात्र शामिल हुए थे। इन छात्रों को 29 राज्यों और 5 केंद्र शासित प्रदेशों के 1472 स्कूलों से चयनित किया गया था। इनमें से 2400 छात्रों को राज्य स्तर पर उत्तीर्ण घोषित किया गया। इन 2400 छात्रों में से 264 छात्रों को 20 कैंपों के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर विजेता घोषित किया गया। इन 264 विद्यार्थियों के लिए दो दिवसीय कैंप का आयोजन आईआईटी दिल्ली में हुआ। प्रसिद्ध वैज्ञानिकों की एक शैक्षणिक समिति ने इन विद्यार्थियों में से 18 छात्रों को राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिभाओं के रूप में चयनित किया और इन्हें हिमालयन्स का नाम दिया।

कार्यक्रम का प्रमुख उद्देश्य विज्ञान के प्रति छात्र की आत्मीयता विकसित करना तथा विज्ञान को भविष्य के कैरियर के रूप में लेने के लिए प्रोत्साहित करना है। विद्यार्थी विज्ञान मंथन में नामांकन प्राप्त छात्रों के अध्ययन सामग्री के लिए विभा ने दो पुस्तक प्रकाशित किए हैं। पहली पुस्तक डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी है और दूसरी पुस्तक है विज्ञान में भारतीय  योगदान : परंपरा से आधुनिकता तक।

मंत्री महोदय ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि जब तक वे अपने मनोभावों का अनुपालन नहीं करेंगे तब तक वे अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पायेंगे। उन्होंने कहा कि प्रतिभा, समर्पण, कड़ी मेहनत और अनुशासन का दृढ़ संकल्प सफलता की कुंजी है। उन्होंने विद्यार्थियों के माता-पिता को भी बधाई दी और कहा कि वे अपने बच्चों को अपने उज्ज्वल भविष्य के लिए प्रेरित करें।


HRD Minister Shri Prakash Javadekar felicitated National Science Talents of 2016-17

Union Human Resource Development Minister Shri Prakash Javadekar felicitates National Science Talents of the Year 2016-17 in New Delhi today. The winners were awarded with mementoes and certificates by the Minister.

Vijnana Bharati (VIBHA) jointly with Vigyan Prasar – an autonomous institution under Department of Science & Technology and National Council of Education and Research Training (NCERT) – Ministry of Human Resource Development has organized the National Science Talent Search for Future India Vidyarthi Vigyan Manthan (VVM) across the country.

1.4 lakh students from 1472 schools from all the 29 states and 5 union territories from class VI-XI participated in the exam. Out of this 2400 students were declared as state level winners. Through 20 camps 264 students were selected as National level winners from 2400 students. These 264 students have undergone a two-day national camp at IIT Delhi, under an academic committee of eminent scientists and selected 18 students as national science talents of the year named as HIMALAYANS.

One of the major objectives of the programme is to evolve student’s more affinity towards science and encourage them to take science as their future career. VIBHA published two books namely Biography of Dr APJ Abdul Kalam and Indian contributions to Science from Tradition to Modern as the study material for the enrolled students of Vidyarthi Vigyan Manthan.

The Minister told the students to follow their passion because unless we don’t follow our passion we don’t reach the destination we want in life. He added that talent, dedication, determination to work hard and discipline is the key to the success. He also congratulated the proud parents of the students and asked them to motivate their children for their bright future.

SHARE