मेधावी विद्यार्थियों को मिलेगा नि:शुल्क खाना-पीना, लगाई जाएंगी विशेष क्लास

Professional training for students मेधावी

मेधावी विद्यार्थियों को मिलेगा नि:शुल्क खाना-पीना, लगाई जाएंगी विशेष क्लास

मेधावी विद्यार्थियों को नि:शुल्क खाना-पीना मिलेगा। परीक्षा की तैयारी के लिए विशेष क्लास लगाई जाएंगी। इस सारी कवायद का लक्ष्य यह कि प्रत्येक बोर्ड परीक्षा परिणाम की मेरिट लिस्ट सरकारी पाठशालाओं के पढ़ेसरियों से ही भर जाए। जिले से लेकर राज्य स्तरीय वरीयता सूची में सरकारी विद्यालयों के विद्यार्थियों का दबदबा रहे। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने ‘मिशन मेरिट’ शुरू किया है।

बीकानेर मंडल के प्रत्येक जिले में 100 मेधावी विद्यार्थियों का चयन परीक्षा के आधार पर किया जाएगा। फिर उनको भोजन व आवास की सुविधा देकर एक ही जगह विशेष कक्षाएं लगाकर अध्ययन करवाया जाएगा, जो परीक्षा शुरू होने तक जारी रहेगा। जिले के 100 चयनितों में दसवीं तथा बारहवीं के विद्यार्थी शामिल रहेंगे। चयन के लिए पहले ब्लॉक स्तर पर परीक्षा होगी। इसमें प्रदर्शन के आधार पर ही चयनितों को मिशन मेरिट में शामिल किया जाएगा। मंडल के तीनों जिलों के डीईओ माध्यमिक की मिशन मेरिट को लेकर सोमवार को बैठक होगी।

इसमें कार्ययोजना बनाई जाएगी। फिर मंगलवार को मंडल स्तरीय बैठक डीडी ओपी सारस्वत की अध्यक्षता में राउमावि पीलीबंगा में होगी। मिशन मेरिट के फैक्ट किसी विषय में चयनित विद्यार्थियों की संख्या यदि 5 से कम हुई तो उनको अपने स्तर पर ही अध्ययन करना होगा। 100 विद्यार्थियों के चयन के लिए 26 दिसम्बर को प्रत्येक तहसील नोडल विद्यालय पर होगी लिखित परीक्षा। परीक्षा दोपहर बारह से तीन बजे तक होगी। बोर्ड पैटर्न के आधार पर ली जाएगी परीक्षा।

अध्यापन के लिए शिक्षकों का पैनल बनाया गया है। कौनसी कक्षा के कितने जानकारी के अनुसार 100 चयनितों में दसवीं कक्षा के 40 विद्यार्थी होंगे। इसके अलावा बारहवीं कला, विज्ञान व वाणिज्य संकाय के 20-20 विद्यार्थी होंगे। इस तरह कुल 100 विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा। चयन के लिए दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों की 180 अंक की परीक्षा ली जाएगी। जबकि बारहवीं कक्षा के होनहारों को 150 अंकों की परीक्षा देनी होगी।

वरीयता के आधार पर 100 विद्यार्थी चयनित होंगे। संस्था प्रधानों की रूचि मिशन मेरिट की तैयारी जिले में जोर-शोर से चल रही है। ब्लॉक स्तरीय परीक्षा के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश मिल चुके हैं। सभी संस्था प्रधानों ने इसमें पूरी रूचि दिखाई है। सबका सहयोग रहा तो जरूरी जिला अबके बोर्ड परिणाम में अलग चमक बिखरेगा। रोहिताश चुघ, मार्गदर्शक मंडल सदस्य, मिशन मेरिट।

SHARE