जोधपुर : किताबो – द ब्लू सिटी चिल्ड्रन लिट्रेचर फेस्टिवल

Children litrture festival

जोधपुर : किताबो-द ब्लू सिटी चिल्ड्रन लिट्रेचर फेस्टिवल

जोधपुर : यदि आपके बच्चे किताबों से भाग रहे हैं और मोबाइल की दुनिया की तरफ जा रहे हैं तो ‘डेजर्ट लीफ फाउंडेशन’ डेजर्ट सिटी जोधपुर में लेकर आ रहा है ‘किताबो-द ब्लू सिटी चिल्ड्रन लिट्रेचर फेस्टिवल’। यह एक ऐसा साहित्य फेस्टिवल है, जो बच्चों के लिए विशेष प्रकार से डिजाइन किया गया है। यह हिन्दी, मारवाड़ी और अंग्रेजी तीनों भाषाओं में होगा। इस फेस्टिवल में 8 से 14 साल की आयु वर्ग के युवा अपने मन में उठ रहे सवालों का समाधान जान सकेंगे।

तीन दिन में होंगे 100 सत्र

तीन दिवसीय फेस्टिवल में करीब 100 सत्र होंगे। चिल्ड्रन साहित्य फेस्टिवल का आयोजन 19 से 21 जनवरी तक विद्याश्रम स्कूल, शिकारगढ़ में होगा। इसमें सभी स्कूलों के विद्यार्थियों का प्रवेश नि:शुल्क होगा। साथ ही बच्चों के पेरेन्ट्स एवं टीचर्स एवं साहित्य में रुचि रखने वाले लोग भी भाग ले सकेंगे।

फेस्टिवल बच्चों के लिए यह होगा खास

चिल्ड्रन साहित्य फेस्टिवल में एक सत्र बाल लेखकों के साथ वार्तालाप का होगा। वहीं एक सत्र सिनेमा स्क्रीनिंग से संबंधित होगा। इसमें नेशनल अवॉर्ड विजेता फिल्म्स एवं बाल सिनेमाओं के निर्माता, निर्देशक और कलाकारों से बच्चे बातचीत कर सकेंगे। सिनेमा को लेकर जो भी सवाल बच्चों के मन में उठ रहे हैं, उनका समाधान भी जान सकेंगे।

फेस्टिवल में एक सत्र थियेटर से संबंधित होगा, इसमें बच्चे थियेटर कलाकारों से बातचीत कर सकेंगे। इन विविधि सत्रों के दौरान एक सत्र में स्टोरी ट्रेनिंग का भी सत्र होगा। इसमें बच्चों को बताया जाएगा कि सही तरीके से स्टोरी कैसे बनाई जाती है। इस दौरान आर्ट एंट क्राफ्ट, डांस, म्यूजिक और स्टोरी राइटिंग के वर्कशॉप और स्टोरी टेलिंग, कैलिग्राफी आदि विभिन्न सत्र भी आयोजित किए जाएंगे।


ये करेंगे शिरकत

विभिन्न सत्रों के दौरान करीब 30 से अधिक विभिन्न विषयों के विद्वान एवं वक्ता भाग लेंगे और संबोधित करेंगे। इनमें शामिल कुछ प्रमुख नाम हैं :

  • राकेश गोधवानी (लेखक, फैकल्टी आईआईएम बैंगलोर, कोच स्टार्टअप्स एवं कॉर्पोरेट हाउसेज)
  • सिमरन गोधवानी (डांसर, टीचर एवं कोरियोग्राफर)
  • दीपक (वोकेलिस्ट एवं म्यूजिसियन)
  • रूपा राय, बाल साहित्य के लेखक एवं कम्प्यूटर इंजीनियर
  • वरुण गोवर, कॉमेडियन, फिल्म स्क्रीनराइटर, बाल कहानी लेखक (राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित)
  • बतुल मुख्तिर, फिल्म राइटर, प्रोड्यूसर एवं डायरेक्टर (राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित)
  • इन्दु हरि कुमार, बाल कहानी के रचयिता एवं लेखक
  • चिंतन गिरीश मोदी, लेखक एवं प्रशिक्षक
  • अक्का-बक्का टीम – वंदना बिस्ट बाल लेखक, सुविधा मिस्ट्री, इलुस्ट्रेटर, चंदना दत्ता, कहानी वाचक
  • प्रीति अग्रवाल मेहता – अभिनेत्री एवं लेखक

यह फेस्टिवल बच्चों को साहित्य से जोडऩे का प्रयास है। इसमें साहित्य से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर बच्चों से संंबंधित सत्र होंगे, जिसमें बाल मन की समस्याओं का समाधान होगा। – ईरा सिसोदिया, फेस्टिवल डायरेक्टर

SHARE