उदयपुर में खुलेगा कौशल विकास केन्द्र

shivira shiksha vibhag rajasthan shiksha.rajasthan.gov.in

उदयपुर में खुलेगा कौशल विकास केन्द्र

उदयपुर: कौशल विकास केन्द्र की घोषणा करते हुए केन्द्रिय वित्त राज्यमंत्री मेघवाल ने कहा कि जीवन में ऊपर उठो परन्तु अपनेपन के साथ। उन्होंने युवाओं को प्रेरित करते हुए स्वामी विवेकानंद को आदर्श बनाने की सलाह दी। उन्होंने एक प्रसंग का उल्लेख करते हुए जीवन में सभी के लिए उपयोगी बनने की शिक्षा दी। उन्होंने सीएसआर के तहत आदिवासी युवाओं के लिए अभिनव केंद्र की आवश्यकता जताई तथा कौशल विकास के लिए केन्द्र सरकार की ओर उदयपुर में नवीन केंद्र खोलने की घोषणा की। उन्होंने जलियांवाला बाग की घटना को याद दिलाते हुए कहा कि इससे पहले मानगढ़ को भी याद करना चाहिए। धरती को आज के दौर में पर्यावरण प्रदूषण से जो बचा रहा है वह है आदिवासी समाज।

इन्हें किया सम्मानित

समारोह में 319 जनजाति प्रतिभाएं तथा उन्हें आगे लाने वाले सर्व समाज के 91 शिक्षकों का सम्मान किया गया। बांसवाड़ा के जिला खेल अधिकारी धनेश्वर मईडा को मानगढ़ गौरव पुरस्कार, 10 प्रतिभाओं को आदिकवि वाल्मीकि प्रतिभा पुरस्कार, 16 को राणा पूंजा, 148 स्कूली बच्चों को शहीद कालीबाई प्रतिभा पुरस्कार, 89 को वीर एकलव्य, 19 को खेल रत्न तथा 36 को नानकजी भील पुरस्कार दिए गए। पुरस्कार में प्रशस्ति पत्र तथा रामचरित मानस के भगवान राम-संत शिरोमणी शबरी भील के मिलन प्रसंग में नवदा भक्तिको चित्रमय रूप में दिया गया। कार्यक्रम में अंचल के 8 जिलों के 1200 से अधिक प्रतिभागी उपस्थित रहे।

ये रहे मौजूद

समारोह की अध्यक्षता सांसद अर्जुन लाल मीणा ने की। विशिष्ट अतिथि राज्य मंत्री सुशील कटारा, पूर्व मंत्री महेंद्रजीत सिंह मालवीय, पूर्व सांसद रघुवीर मीणा ने भी युवाओं को संबोधित किया। कार्यक्रम में पूर्व विधायक अर्जुन सिंह बामनिया, जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल, ब्रह्मचारी महाराज, समरथलाल परमार, एसपी प्रतापगढ़ कालूराम रावत, सेवानिवृत्त आईएएस एचके डामोर , पूर्व कुलपति टी.सी. डामोर, प्रभुलाल डेण्डोर, डॉ शंकर एच बामनिया आदि भी उपस्थित थे।

SHARE